May 20, 2024

24x7breakingpoint

Just another WordPress site

10-forest-personnel-suspended-for-casual-approch-in-forest-fire

लापरवाही बरतने में वन विभाग के 10 कर्मचारियों सस्पेंड

10-forest-personnel-suspended-for-casual-approch-in-forest-fire

लापरवाही बरतने पर वन विभाग के 17 कार्मिकों पर सीएम धामी के गुस्से की गाज गिरी।

जिसमे 10 अधिकारी- कर्मचारियों को सस्पेंड किया गया है। जबकि 2 अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इसके अलावा 5 अधिकारियों को दूसरी जगह अटैच किया गया है।

मुख्यमंत्री के आदेश के बाद जंगलों की आग को रोकने में लापरवाही बरतने वाले वन विभाग के 10 कार्मिकों को निलंबित किया गया है। जबकि कई कार्मिकों पर भी अनुशासनात्मक कार्यवाही के निर्देश दिए गए।

खास खबर महिला संत पर अखाड़े ने की कार्यवाही, आरोप बड़े गंभीर 

उन्होंने सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये कि वनाग्नि पर प्रभावी रोकथाम के लिए जन सहयोग लिया जाए।

जंगलों में आग लगाने की घटनाओं में जो भी लिप्त पाये जा रहे हैं, उन पर नियमानुसार कठोर कार्रवाई की जाय

10-forest-personnel-suspended-for-casual-approch-in-forest-fire मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सचिवालय में वनाग्नि, पेयजल, मानसून सीजन के साथ ही चार धाम की तैयारियों की समीक्षा की।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को सचिवालय में वनाग्नि को रोकने के लिए की जा रही कार्यवाही और आगामी मानसून सीजन के दृष्टिगत तैयारियों की समीक्षा की।

वनाग्नि को रोकने और जन जागरूकता के लिए मुख्यमंत्री फायर लाईन बनाने की कार्यवाही में प्रतिभाग करेंगे।

उन्होंने कहा कि इसमें जनप्रतिनिधियों को भी शामिल किया जाए। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये वनाग्नि पर पूर्णतः रोकने के लिए सभी सचिव को अलग-अलग जिलों की जिम्मेदारी दी जाय।

सभी सचिव संबंधित जनपदों में जाकर वनाग्नि से प्रभावित क्षेत्रों का स्थलीय निरीक्षण करें और वनाग्नि को रोकने के लिए प्रभावी कदम उठायें।

वनों से पिरूल एकत्रीकरण के लिए प्रभावी योजना बनाई जाय

वनाग्नि को रोकने के लिए रिस्पांस टाईम कम से कम किया जाय।

*मानसून से पूर्व सभी तैयारियां सुनिश्चित कर ली जाए*

आगामी मानसून सीजन की तैयारियों के संबंध में बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि मानसून से पहले नालियों की सफाई, ड्रेजिंग और चैनलाईजेशन की कार्यवाही पूर्ण की जाय। नदी किनारे सुरक्षा दीवारों के निर्माण और मरम्मत के कार्य समय पर पूर्ण किये जाएं।

उन्होंने निर्देश दिये कि सभी पुराने ब्रिजों का सेफ्टी ऑडिट किया जाए। वर्षाकाल के दृष्टिगत संवेदनशील क्षेत्रों में वैली ब्रिज की पूर्ण व्यवस्था की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के सभी डैम की गहराई और क्षेत्रफल की वर्तमान स्थिति जानने के लिए संबंधित विभागों की एक कोर्डिनेशन कमेटी बनाई जाए।

यह भी आंकलन किया जाय कि डैम के बनने से वर्तमान समय तक डैम की गहराई और क्षेत्रफल की स्थिति क्या है।

चारधाम यात्रियों को मौसम अलर्ट की व्यवस्था

मुख्यमंत्री ने राज्य में चारधाम यात्रा के दृष्टिगत भी सभी व्यवस्थाएं सुचारू रखने के आदेश दिए।

उन्होंने कहा कि मौसम की जानकारी से संबंधित अलर्ट एसएमएस के माध्यम से लोगों को मिले।

चारधाम और मौसम से संबंधित अन्य सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए सूचना तंत्र को मजबूत बनाया जाए।

श्रद्धालुओं की सुविधा के दृष्टिगत सभी विभाग अपने स्तर पर बेहतर व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें। जन सुविधा को ध्यान में रखते हुए आधुनिक तकनीकि का अधिकतम इस्तेमाल किया जाए।

About The Author