24x7breakingpoint

Just another WordPress site

फेक ट्वीट मामले में भाजपा ने इस व्यक्ति के खिलाफ की कार्यवाही की मांग

 

 

देहरादून(अरुण शर्मा)। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के फर्जी ट्वीट के मामले में नया मोड़ आ गया है भाजपा के प्रदेश सोशल मीडिया प्रभारी ने इस मामले में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है

आपको बता दें कि पिछले दिनों प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक का एक फेक ट्वीट वायरल हुआ था जिसमें जिसमें उनके द्वारा उत्तराखंड में पार्टी की हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफे की बात कही गई थी

जिसके बाद राजनीतिक गलियारों में चर्चाएं तेज हो गई थी उत्तराखंड बीजेपी के प्रदेश सोशल मीडिया प्रभारी ने देहरादून एसएसपी को पत्र लिखकर प्रदीप नाम के व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई करने और प्रदेश अध्यक्ष की छवि धूमिल करने के आरोप के साथ कार्रवाई की मांग की है।

विधानसभा चुनाव के बाद उत्तराखंड बीजेपी में गहमागहमी का माहौल बना है। इसी बीच बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के ट्विटर अकाउंट से एक फर्जी ट्वीट ने घमासान मचा दिया है।

वीओ- पिछले दिनों से बीजेपी के कई सीटिंग विधायकों ने पार्टी संगठन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

लक्सर के विधायक संजय गुप्ता ने सीधे प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक पर भितरघात का आरोप लगाते हुए उनको पार्टी से निष्कासित करने की मांग की है।

इसके साथ ही काशीपुर के विधायक हरभजन सिंह चीमा और चंपावत के विधायक कैलाश गहतोड़ी ने भी कई गम्भीर आरोप लगाए हैं।

अब बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक के नाम से जारी एक Tweet ने सियासत और बीजेपी में सनसनी मचा दी है। हालात ये हैं कि कांग्रेस के कुछ बड़े नेता तक इसे शेयर करते दिखाई दिए। लेकि ट्वीट देखकर साफ लग रहा हैं कि ये फर्जी ट्वीट है।

ट्वीट में विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार तय होने, पार्टी से इस्तीफे के ऐलान के साथ ही CM पुष्कर सिंह धामी की लालसा को चुनाव में हार तय होने के लिए जिम्मेदार बताया गया है। बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता नवीन ठाकुर ने कहा कि यह फर्जी ट्वीट है और कांग्रेस इस पर निम्न स्तर की राजनीति कर रही है।

यह कांग्रेस की एक बड़ी चाल भी है। इस पूरे मामले में मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। कौशिक की फोटो वाली twitter अकाउंट (@madankaushikbjp)से किए गए Tweet की भाषा इस प्रकार था

*उत्तराखंड में भाजपा हार रही है। इसलिए मैं आज ही पार्टी से नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देता हूँ। सीएम धामी को मैंने बहुत बार समझाने की कोशिश की। मगर उनकी लालसा देवभूमि में भाजपा को ले डूबी’।