April 22, 2024

24x7breakingpoint

Just another WordPress site

Haridwar SSP parmendra Dhobhal form SIT in octagon builders scam

SIT खंगालेगी “ऑक्टागन बिल्डर्स” ठगी से जुड़े साझीदारों के तार

Haridwar SSP parmendra Dhobhal form SIT in octagon builders scam

 

हरिद्वार – ऑक्टागन बिल्डर्स के कई सौ करोड़ के धोखाधड़ी मामले में एसपी क्राइम के नेतृत्व में कप्तान ने SIT बनाई है।

एसपी क्राइम अजय गणपति के नेतृत्व में गठीत SIT एक माह में अपनी रिपोर्ट देगी।

I.P.S अजय गणपति के नेतृत्व में टीम ने 1 राजपत्रित अधिकारी, 01 निरीक्षक सहित कुल 11 सदस्यों को शामिल किया गया है।

650 बीघे से ज्यादा जमीन पर फैला हुआ था ऑलीशान पॉश कालोनी के इस मायाजाल में शामिल साझेदारों को बेनकाब करने का काम करेगी यह SIT।

इस मामले में ठगी की अनुमानित रकम कई सौ करोड़ आंकी जा रही है ।

मामले में गिरफ्तार गैंग सरगना कुलदीप के खिलाफ हैं धोखाधड़ी के 4 दर्जन से ज्यादा मुकदमें हैं दर्ज है जबकि उसकी महिला साथी पर 9 मुकदमों में दर्ज है।

सपनों की आलीशान पॉश कालोनी “संतूर सिटी व हर हर गंगे” पर लगे हर आरोपों की होगी अब निष्पक्ष जांच

हरिद्वार एसएसपी ने बताया कि काफी बड़े स्तर पर मासूम लोगों के साथ धोखाधड़ी हुई है हम इस पूरे मामले की गहराई से पड़ताल करना चाहते हैं। मैंने SIT टीम को 1 महीने के अंदर जांच पूरी करने का समय दिया है। हम धोखे के शिकार हुए सभी लोगों को उचित न्याय दिलाना चाहते हैं

बीते माह संबंधित गैंग के लीडर कुलदीप नन्दराजोग और उसकी सहयोगी महिला अंजली त्यागी के हरिद्वार पुलिस के गिरफ्त में आने के बाद अनेक व्यक्तियों द्वारा स्वयं को ठगी का शिकार बताते हुए, पुलिस कप्तान प्रमेन्द्र डोबाल से भेंट कर, अपनी शिकायतें रखी थी। जिनमें समय-समय पर मुकदमें दर्ज किए गए थे।

प्रथम दृष्टया गैंग द्वारा लोगों से कई सौ करोड रुपए की धोखाधडी किये जाने का पता चला, जिसमें बाद में और मामले सामने आने पर कई मुकदमे दर्ज हुए, इन सब मामलों की विस्तृत जांच अब SIT द्वारा की जाएगी। गैंग में लीडर कुलदीप के अतिरिक्त सतपाल नन्दराज जोग,अंजली त्यागी, संजीव गुप्ता, सौरभ गाँधी सक्रिय सदस्य रहे हैं।

ऑक्टागन बिल्डर प्रमोटर्स के निदेशक कुलदीप नंदराज जोग एवं अन्य साथियों द्वारा जमीन बेचने के नाम पर थाना बहादराबाद में पंजीकृत धोखाधड़ी एवं गैंगस्टर एक्ट (मु०अ०सं० 364/23 धारा 2/3 गैंगस्टर एक्ट के अंतर्गत) पंजीकृत अभियोगों के 1 महीने के अंदर सफल निस्तारण हेतु एसपी क्राइम अजय गणपति के नेतृत्व में SIT का गठन किया गया है।

पूरे राज्य में चर्चित ठगी के इस बड़े मामले में लगातार मिल रही नई शिकायतों का संज्ञान लेते हुए एसएसपी प्रमेन्द्र डोबाल द्वारा हर राज से पर्दा उठाने के लिए S.I.T. गठित की गई है।

About The Author