February 28, 2024

24x7breakingpoint

Just another WordPress site

Forgery on the name of development authority in Uttrakhand

फर्जीवाड़े नाम पर विकास प्राधिकरण को भी नहीं बक्शा

Forgery on the name of development authority in Uttrakhand

सूबे में फर्जीबाड़े वाले मामले अनेकों आ रहें हैं लेकिन उधम सिंह नगर में एक ऐसा अनोखा मामला समाने आया है,जोकि चर्चा का विषय बना हुआ है।

विकास प्राधिकरण के नाम से जनपद के मुख्यालय रुद्रपुर में डांक के माध्यम से एक फर्म को फर्जी नोटिस जारी कर दिया गया।

जैसे ही विभाग को इसकी भनक लगी वैसे ही विभाग ने कोतवाली में एक शिकायत पत्र दिया है।

खास खबर- हरिद्वार में अवैध शराब को पकड़ रहा आपकारी विभाग का ड्रोन

नोटिस प्राधिकरण के सायक सचिव के नाम से जारी किया गया है।

बता दें कि ऊधम सिंह नगर के जनपद में आये दिन नए नए कारनामे सामने आते रहते है जहाँ जनपद में एक अनोखा फर्जीबाड़ा सामने आया है।

जनपद के मुख्यालय रुद्रपुर में एक बार फिर सामने आया है, जहाँ कुछ जालसाजों ने जिला विकास प्राधिकरण ऊधम सिंह नगर नाम से फर्जी नोटिस बना अकबर टूल स्टोर नामक फार्म के नाम जारी कर दिया।

जारी नोटिस 27 जुलाई 2023 व पत्रांक संख्या 178/23 को बकायदा प्राधिकरण के सायक सचिव के नाम से जारी कर दिया।

जिसमे रुद्रपुर के गांधी कालोनी सिब्बल सिनेमा के सामने स्थित अकबर टूल स्टोर को डाक के माध्यम से भेजा गया था तथा उसमें शातिराना अंदाज में अवैध निर्माण पर आपके विरुद्ध नजूल भूमि अधिनियम एक्ट 2016 धारा 138 के अंतर्गत कानूनी कार्यवाही करने व जुर्माने की राशि के रूप में 02 लाख 75 हजार की धन वसूली करने की कार्यवाही करने का नोटिस दिया गया।

मामला विकास प्राधिकरण के प्रकाश में आया जब यह डाक के माध्यम से उनके ऑफिस पहुँच गया। तथा मौके पर कोई न मिलने के बाद डाक विभाग ने प्राधिकरण को वापस कर दिया था।

हालांकि इस मामले के बाद प्राधिकरणमें हड़कंप मच गया और प्राधिकरण के सचिव एनएस नबियाल ने इस मामले में कार्यवाही को 19 अगस्त को एसएसपी कार्यालय, जिलाधिकारी कार्यालय व रुद्रपुर कोतवाली में शिकायती पत्र रिसीव करवाया। लगभग 20 दिन बाद भी अभी तक पुलिस ने मुकदमा दर्ज नही किया।

जिला विकास प्राधिकरण सचिव एनएस नबियाल ने बताया किसी ने फर्जी तरीके से प्राधिकरण के नाम नोटिस जारी किया है

जोकि जिस नाम से नोटिस जारी किया गया है सायक प्राधिकरण नाम का उनके ऑफिस में कोई पद नहीं है जोकि जिस वक्त ये लेटर आया था उसी समय ही इसकी शिकायत पुलिस को दे दी गयी थी।

साथ में उन्होंने कहा की ज़ब भी प्राधिकरण कोई नोटिस जारी करती है तब उससे पहले एक सर्वें किया जाता है इस तरह के मामलो से साबधान रहें।

 

About The Author