April 16, 2024

24x7breakingpoint

Just another WordPress site

Rishikesh win SMJN kho kho championship

ऋषिकेश ने जीती एस एम जे एन की खो-खो चैंपियनशिप

हरिद्वार। श्री देव सुमन उत्तराखण्ड विश्वविद्यालय, बादशाहीथाॅल, टिहरी-गढ़वाल की अन्तर्महाविद्यालयी खो-खो चैम्पियनशिप के समापन पर ऋषिकेश व एस.एम.जे.एन. काॅलेज के मध्य अन्तिम फाईनल मुकाबले का आयोजन किया गया।

जिसमें कड़े व रोमांचक संघर्ष के बाद छात्र व छात्रा चैम्पियनशिप श्री देव सुमन विश्वविद्यालय परिसर, ऋषिकेश की टीम ने प्राप्त की।

खास खबर – मकर संक्रान्ति पर पहाड़ी महासभा ने बनाया खास प्लान 

इस अवसर पर श्री महन्त रविन्द्र पुरी महाराज, अध्यक्ष अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद व काॅलेज प्रबन्ध समिति ने खिलाड़ियों को अपनी शुभकामनायें प्रेषित करते हुए कहा खो-खो के खेल में विजय प्राप्त करने के लिए हमेशा छोटी खो देनी चाहिए और टीम में एकता होनी चाहिए, हमें इसे खेलने Rishikesh win SMJN kho kho championship के लिए दिमाग से भी काम लेना चाहिए।

श्री महन्त ने कहा कि खो-खो एक ऐसा खेल है जो टीम वर्क का सार प्रस्तुत करता है।

प्रत्येक खिलाड़ी की सफलता उसके साथियों की सफलता से जुड़ी होती है।

महाविद्यालय के प्राचार्य प्राचार्य प्रो. सुनील कुमार बत्रा ने सभी अतिथियों का स्वागत प्रेषित किया तथा टीम प्रतिभागियों व विजयी खिलाड़ियों को अपनी शुभकामनायें प्रेषित की। प्रो. बत्रा ने कहा कि खेल सहयोग, संचार और आपसी सम्मान का खो-खो का खेल महत्व सिखाता है।

ये मूल्यवान सबक है जो खेल के मैदान से परे जाकर व्यक्तियों को समाज के जिम्मेदार और सहानुभूतिपूर्ण सदस्यों के रूप में ढालते हैं।
मुख्य खेलकूद अधीक्षक प्रो. तेजवीर सिंह तोमर ने सभी अतिथियों व प्रतिभागियों का स्वागत व शुभकानायें प्रेषित की।

उन्होंने खेलकूद अधीक्षक, डाॅ. सुषमा नयाल व खेलकूद प्रशिक्षक मनोज मलिक, रंजीता व खेलकूद प्रशिक्षु मधुर अनेजा के सक्रिय सहयोग की मुक्तकंठ से प्रशंसा की। अंत में श्रीमहन्त रविन्द्र पुरी जी महाराज,

प्राचार्य प्रो. सुनील कुमार बत्रा तथा मुख्य खेलकूद अधीक्षक प्रो. तेजवीर सिंह तोमर द्वारा समस्त प्रतिभागियों व विजयी खिलाड़ियों को नगद पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।

चैम्पियनशिप को सम्पन्न कराने में मुख्य रूप से डाॅ. मन मोहन गुप्ता, डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी, प्रो. जे.सी. आर्य, डाॅ. नलिनी जैन, डाॅ. पल्लवी राणा, डाॅ. सरोज शर्मा, डाॅ. आशा शर्मा, डॉ सुगंधा वर्मा, डाॅ. मोना शर्मा, डाॅ. रेनू सिंह, श्रीमती रिचा मिनोचा,

डाॅ. अनुरीषा, डाॅ. लता शर्मा, भव्या भगत, साक्षी गुप्ता, आकांक्षा पाण्डेय, साक्षी अग्रवाल, रूचिता सक्सेना, डाॅ. मिनाक्षी शर्मा, डाॅ. विनीता चौहान, रिंकल गोयल, वैभव बत्रा, डाॅ. पूर्णिमा सुन्दरियाल, डाॅ. विजय शर्मा, डाॅ. पुनीता शर्मा, डाॅ. वन्दना सिंह,

शाहिन, डाॅ. रजनी सिंघल, डाॅ. पदमावती तनेजा, दिव्यांश शर्मा, डाॅ. शिव कुमार चौहान, डाॅ. मनोज सोही, विनीत सक्सेना, अंकित बसंल, मोहन चन्द पाण्डेय, राजकुमार, हेमवती, होशियार सिंह चौहान आदि का विशेष सहयोग रहा।

About The Author