May 21, 2024

24x7breakingpoint

Just another WordPress site

Promising archers to emerge from Dronacharya Academy Haridwar

हरिद्वार की द्रोणाचार्य एकेडमी से निकलेंगे श्रेष्ठ धनुर्धर

03 से 08 मई, 2024 तक किया जायेगा राष्ट्रीय स्तर पर तीरंदाजी प्रतियोगिता का आयोजन
हरिद्वार। हरिद्वार के SSMJN पी.जी. काॅलेज में द्रोणाचार्य अकादमी का शुभारंभ किया गया।

काॅलेज प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष श्रीमहन्त रविन्द्र पुरी महाराज ने द्रोणाचार्य धनुर्धर अकादमी का उद्घाटन किया गया।

बता दे कि आगामी 3 मई से राष्ट्रीय स्तर की तीरंदाजी प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा।

खास ख़बर – गंगा तट से कुमार विश्वास के अपने अपने राम के चुनावी मायने 

जिसमे कई राज्यों के तीरंदाज प्रतिभाग करेंगे।

काॅलेज प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष श्रीमहन्त रविन्द्र पुरी ने कहा कि महाविद्यालय में नवनिर्मित द्रोणाचार्य अकादमी में प्रशिक्षकों द्वारा धनुर्विधा का प्रशिक्षण कालेज के खेलकूद मैदान पर दिया जायेगा।

श्रीमहन्त ने अपने आशीवर्चन में महा कि प्रशिक्षक कुलदीप कुमार व रमेश प्रसाद के निर्देशन में वह आशा करते हैं कि इस अकादमी से निकलने वाले युवा देश के लिए पदक जीत कर देश एवं उत्तराखण्ड का नाम अवश्य रोशन करेंगे ।

श्रीमहन्त ने आचार्य द्रोण के जीवन से प्रेरणा लेने का आह्वान करते हुए कहा कि जिस प्रकार आचार्य द्रोण ने कम संसाधनों में कुरुवंश और पाण्डवों को धनुर्विधा की उत्तम शिक्षा दी उसी प्रकार यह द्रोणाचार्य अकादमी भी उन्हीं से प्रेरणा लेकर श्रेष्ठ धनुर्धर यहाँ से निकालेगी।

उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड आचार्य द्रोण की कर्मभूमि रही है और हमें पुनः उस गौरवशाली परम्परा को जीवित करना है।
काॅलेज के प्राचार्य प्रो. सुनील कुमार बत्रा ने कहा कि धनुर्विधा भारत की प्राचीनतम विधा है और उसका आधुनिक परिप्रेक्ष्य में पुनः उत्थान करना प्रत्येक भारतवासी का कर्तव्य है।

काॅलेज प्रशासन इस कार्य में निरन्तर धनुर्धरों को पुष्पित और पल्लवित करता रहेगा।

Promising archers to emerge from Dronacharya Academy Haridwar डॉ बत्रा ने बताया कि इस प्रशिक्षण के अन्तर्गत सबसे कम उम्र का धनुर्धर मात्र पांच वर्ष का है।

अब अर्जुन,कर्ण ,एकलव्य उत्तराखंड की भूमि से निकलेंगें। इस अवसर पर कुलदीप चौहान ने बताया कि राष्ट्रीय स्तर पर तीरंदाजी प्रतियोगिता का आयोजन हरिद्वार के दयानन्द खेलकूद मैदान में 3 से 08 मई, 2024 तक आयोजित किया जायेगा।

जिसमें भारत के सभी राज्यों से तीरंदाज प्रतियोगिता में प्रतिभाग करेंगे। चौहान ने कहा कि प्रतियोगिता में विजेता खिलाड़ियों को पदकों से पुरस्कृत किया जायेगा।

इस अवसर पर वैदिक, श्रेयांश, अंकित, आराध्या, वार्णिका विश्नोई, कोमल नौटियाल, जन्मेजय चौहान, नैतिक आदि खिलाड़ियों ने प्रशिक्षण में प्रतिभाग किया। इस अवसर पर अधिष्ठाता छात्र कल्याण डाॅ. संजय कुमार माहेश्वरी,

विनय थपलियाल, वैभव बत्रा, कार्यालय अधीक्षक मोहन चन्द्र पाण्डेय, अभिभावक अतुल कुमार विश्नोई, विकास, भारत सिंह, पंकज निगम, श्रीकांत, प्रदीप कुमार शर्मा, अमित आदि मुख्य रूप सेउपस्थित रहे।

About The Author