24x7breakingpoint

Just another WordPress site

sdrf rescued a sant who got stuck from three days

तीन दिन से टापू पर फंसे संत के लिए कुछ इस तरह SDRF बनी देवदूत

ऋषिकेश में बाबा फंस गया टापू पर फोन में थी बैटरी तीन दिन से भूखा,भगवान् से मांग रह था दुआ, फिर अचानक, ऐसा हुआ कि खु भी नहीं कर पाया भरोसा,

मामला उत्तराखंड में ऋषिकेश के रामझूला क्षेत्र का है,जंहा पर गंगा में बहे एक युवक की सर्चिंग में एसडीआरएफ जुटी थी.

दरअसल थाना लक्ष्मण झूला द्वारा बताया गया कि राम झूला के पास एक व्यक्ति गंगा नदी में बह गया है।

सूचना प्राप्त होते ही एसडीआरएफ पोस्ट ढालावाला से आरक्षी ओम प्रकाश के नेतृत्व में डीप डाइविंग टीम तत्काल घटनास्थल के लिए रवाना हुई।

एसडीआरएफ टीम ने घटनास्थल पर पहुंचने के उपरांत उक्त व्यक्ति की सर्चिंग हेतु सर्च एंड रेस्क्यू ऑपरेशन आरंभ किया गया।

सर्चिंग के दौरान एसडीआरएफ टीम को मस्तराम घाट पर एक बाबा फंसे हुए दिखाई दिए।

पिछले तीन दिनों से बाबा टापू पर ही फंसे हुए थे । फ़ोन की बैटरी खत्म हो जाने के कारण फ़ोन स्विच ऑफ हो गया था।

इसलिए वह किसी को सूचित भी नही कर पाए।

बाबा जी लगातार भगवान से प्रार्थना कर रहे थे कि किसी तरीके से

उनके फंसे होनी की सूचना किसी को मिल जाये और कोई उन्हें इन संकट से बाहर निकाले।

इतने में किसी अन्य व्यक्ति की सर्चिंग करती हुई SDRF टीम देवदूत बनकर वहां पहुँची।

एसडीआरएफ टीम द्वारा राफ्ट की सहायता से बाबा

चंदन दास उम्र 42 वर्ष निवासी लक्ष्मी नारायण मंदिर राम झूला ऋषिकेश) को रेस्क्यू कर सुरक्षित स्थान पर ले जाया गया।