24x7breakingpoint

Just another WordPress site

Haridwar's teacher pardeep negi awarded twice by president

दो बार राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित होने वाले शिक्षक के संघर्ष की कहानी

हरिद्वार। शिक्षक दिवस पर राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू द्वारा राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित

हरिद्वार GIC भेल के अर्थशास्त्र के लेक्चरार मास्टर ट्रेनर प्रदीप नेगी सम्मान प्राप्त करके हरिद्वार पहुंच चुके हैं।

मास्टर ट्रेनर प्रदीप नेगी जब 2 वर्ष की उम्र के थे तब उन्हें पोलियो हो गया था

और जिसके चलते उनके पैर खराब हो चुके थे मगर उनके माता-पिता ने उनके पढ़ाने में मेहनत की और प्रदीप नेगी ने

उनकी मेहनत को सच करके दिखाया विकलांग होने के बावजूद उन्होंने सफलता की ऊंचाई हासिल की है

जिसे पाने की हर किसी को लालसा होती है यहां तक की प्रदीप नहीं अब तक दो बार राष्ट्रपति के हाथों सम्मानित हो चुके

पहली बार उनको 2014 में तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने सम्मानित किया था

और दूसरी बार इस वर्ष 2022 में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने उनको प्रोटोकॉल तोड़कर

अपने स्थान से नीचे आकर प्रदीप नेगी के स्थान पर पहुंच कर सम्मानित किया प्रदीप नेगी को मिले सम्मान की एक लंबी फेहरिस्त है

मगर राष्ट्रपति द्वारा जिस तरह से उनका सम्मान किया गया उससे भी अभिभूत है

और उन पलों को भूल नहीं पा रहे हैं और उनको याद करके भावुक हो उठते हैं।

राष्ट्रपति द्रोपदी मुर्मू जब प्रदीप नेगी को सम्मानित करें और उन्होंने प्रोटोकोल तोड़कर

उनके स्थान पर पहुंच कर सम्मान दिया उस समय प्रदीप नेगी की पत्नी योगिता नेगी

और उनकी बेटी गार्गी नेगी भी वहां मौजूद थे यह पल और इस मूवमेंट को देखकर

दोनों इतने कुछ भाव विभोर हुए कि आज जब उनसे बात की तो वे उस उछाल के बारे में

बोलने के लिए जैसे उनके पास कोई शब्द ही नहीं थे वह प्रदीप नेगी की इस उपलब्धता पर बहुत खुश है

और मानते हैं कि प्रदीप नेगी ने विकलांग होने के बावजूद हौसला नहीं छोड़ा।