24x7breakingpoint

Just another WordPress site

कड़कड़ाती ठंड में कंबल बांट असहायों के चहरे पर दिखी खुशी

गरीब जरूरतमंदों की सेवा ही सच्ची ईश्वर पूजा है-कमल खड़का
हरिद्वार। गिरवरनाथ जनकल्याण धर्मार्थ ट्रस्ट एवं हाम्रो स्वाभिमान ट्रस्ट के संयुक्त तत्वाधान में हरकी पैड़ी व आसपास के घाटों पर रहने वाले भिक्षुकों व निराश्रितों को कंबल वितरित किए गए।

इस दौरान गिरवरनाथ जनकल्याण धर्मार्थ ट्रस्ट के अध्यक्ष कमल खड़का ने कहा कि सेवा के उद्देश्य से गठित ट्रस्ट के माध्यम से लगातार गरीब जरूरतमंदों की मदद की जा रही है। ट्रस्ट की और से गरीब कन्याओं के विवाह में सहयोग, गरीब वर्ग के बच्चों को पाठय व लेखन सामग्री वितरण, भोजन वितरण, चिकित्सा शिविर आदि का आयोजन निरंतर किया जा रहा है।

कमल खड़का ने कहा कि गरीब जरूरतमंदों की सेवा ही सच्ची ईश्वर पूजा है। सभी को गरीब जरूरतमंदों की मदद के लिए सहयोग करना चाहिए।

उन्होंने बताया कि रविवार को हरकी पैड़ी व आसपास के घाटों पर रहने वाले गरीबों, भिक्षुकों को कंबल व भोजन वितरित किया गया। ट्रस्ट की और से गरीबों की मदद के लिए अभियान निरंतर चलाया जाएगा।
हाम्रो स्वाभिमान ट्रस्ट के कार्यकारी अध्यक्ष योगाचार्य शिवलाल ज्ञवाली ने कहा कि गंगा घाटों पर बड़ी संख्या में भिक्षुक एवं निराश्रित बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं से मिलने वाले दान पर अपना जीवन यापन करते हैं। कड़ाके की सर्दी में सभी को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

इसको देखते हुए गिरवरनाथ जनकल्याण धर्मार्थ ट्रस्ट के साथ गरीबों को कंबल वितरित किए गए। उपाध्यक्ष नारायण शर्मा व समाजसेवी कमला थापा ने कहा कि आपसी सहयोग से ही समाज के गरीब वंचित तबके की मदद की जा सकती है।

सभी को आगे आकर इसमें सहयोग करना चाहिए। महिला समिति की अध्यक्ष अनीता ज्ञवाली एवं सपना खड़का ने कहा कि गरीबों की मदद के साथ महिलाओं के स्वावलंबी बनाने के लिए भी ट्रस्ट निरंतर कार्य कर रहा है। सिलाई, कढ़ाई, बुनाई, ब्यूटीशियन आदि प्रशिक्षण देकर महिलाओं को स्वरोजगार के प्रति जागरूक किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि महिलाएं स्वावलंबी होंगी तभी सशक्त समाज व परिवार का निर्माण होगा। कंबल वितरण में एडवोकेट प्रेम क्षेत्री ने विशेष सहयोग किया। इस अवसर पर सेवानिवृत्त कर्नल चमन सिंह सिसोदिया, कमला थापा, सपना खड़का, अनिता ज्ञवाली, पवन कुमार, नितिन श्रोत्रिय, अभिषेक शर्मा, मानवीर चैहान, अनूप जोशी, चंद्रशेखर जोशी, गीता देवी, रामप्रसाद शर्मा, राकेश दवाण, राकेश चैहान आदि मौजूद रहे।