April 16, 2024

24x7breakingpoint

Just another WordPress site

गंगा घाट पर कुछ इस तरह से सामाजिक जिम्मेदारियों का किया जा रहा है निर्वहन

हरिद्वार- दिसंबर के आखिर में सर्दी ने अपना कमाल दिखाना शुरू कर दिया है.

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में जहां बर्फबरी अपने चरम पर हैं

तो वहीं मैदानी इलाकों में शीत लहर का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है मैदानी क्षेत्रों में शीत लहर के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए

खास खबर भाजपा युवा मोर्चा की प्रदेश कार्यकारिणी में हरिद्वार को मिले 2 पद

सामाजिक कार्यकर्ता लोगों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं

हाड कंपा देने वाली ठंड में सरकारी तंत्र तो फेल नजर आ रहा है लेकिन

Bone fire arrgment by social workers in bank of ganga सामाजिक कार्यकर्ता समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी का बखूबी निर्वहन करते दिखाई दे रहे हैं

इसी कड़ी में गिरवर नाथ जनकल्याण धर्मार्थ ट्रस्ट द्वारा गुरुवार को गउघाट गंगा तट पर अलाव की व्यवस्था की.

बढ़ती ठंड से बचाव के लिए गंगा घाट पर अलाव जलाने की है व्यवस्था मकर संक्रांति तक जारी रहेगी.

ट्रस्ट के अध्यक्ष कमल खड़का ने कहा कि मैदानी इलाकों में शीतलहर का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है लेकिन नगर निगम अपनी जिम्मेदारियों से का निर्वहन सही से नहीं कर रहा.

इसीलिए सामाजिक जिम्मेदारी को ध्यान में रखते हुए गंगा घाट पर अलाव की व्यवस्था की गई है.

उन्होंने बताया कि गुरुवार से शुरू हुई है अलाव की व्यवस्था मकर सक्रांति तक जारी रहेगी.

उन्होंने बताया कि 24 घंटे चलने वाली अलाव की व्यवस्था में लकड़ियों की व्यवस्था की जाएगी.

उपाध्यक्ष सन्नी वर्मा ने कहा कि अनुज जोशी ने कहा कि गंगा घाटों पर नगर निगम अलाव की व्यवस्था नहीं करता है.

कई बार प्रशासनिक स्तर पर ज्ञापन देने के बाद भी इस ओर ध्यान नहीं दिया जाता.

जिसके बाद संस्था के लोगों ने यह जिम्मेदारी अपने कंधों पर ली है

About The Author