March 1, 2024

24x7breakingpoint

Just another WordPress site

rashtrvadi-regional-party-municipal-and-loksabha-election

नगर पालिका और लोकसभा के चुनाव में उतारेगी राष्ट्रवादी रीजनल पार्टी

rashtrvadi-regional-party-municipal-and-loksabha-election

बागेश्वर चुनाव में मतदाताओं ने तीसरे दल के रूप में नोटा को दी है मान्यता‌-शिव प्रसाद सेमवाल

ऋषिकेश- राष्ट्रवादी रीजनल पार्टी के संयोजक शिवप्रसाद सेमवाल ने पार्टी उत्तराखंड के निकाय व लोकसभा की पांचो सीटों पर भी अपने प्रत्याशी उतारे जाने का ऐलान करते हुए कहा कि ग्राम पंचायत चुनाव अभी दूर हैं लेकिन पहले उससे पहले ही उनका दल सभी सीटों पर प्रत्याशी तय कर देगा। यह ऐलान शिवप्रसाद सेमवाल ने ऋषिकेश प्रेस क्लब में आयोजित पत्रकार वार्ता के दौरान किया।

खास खबर- हरिद्वार में नहीं है डेंगू से निपटने की पूरी व्यवस्था स्वास्थ्य सचिव हुए नाराज

पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए राजेंद्र पंत ने कहा कि उनके द्वारा आज से 3 साल पहले को मजबूत किए जाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी परन्तु बागेश्वर के हाल में हुए चुनाव ने यह तय कर दिया है कि राष्ट्रीय दलों के अतिरिक्त तीसरा दल नोटा बना है, जिसका कारण राष्ट्रीय दलों के प्रसिद्ध उत्तराखंड राज्य की जनता का मोह पूरी तरह भंग हो गया है।
ऋषिकेश महानगर प्रभारी उपेंद्र सकलानी का कहना था कि हमारा राज्य आंदोलन की उपज है चाहे जल जंगल को बचाए जाने को लेकर गौरा देवी का आंदोलन हो, या पर्यावरण को बचाने के लिए चिपको आंदोलन उसके बाद राज्य के विकास को लेकर राज्य आंदोलन यह सभी आंदोलन राज्य की जनता की उपेक्षा को लेकर किए गए आंदोलन में शुमार है, उन्होंने कहा कि कोई भी दल तभी बनाया जाता है जब वह जनता की आवाज को उठाने के लिए सक्षम रहता है।

लेकिन राष्ट्रीय दलों ने जनता की आवाज को हमेशा कुचलने का कार्य किया है, उनका आरोप है कि यदि जनता की आवाज को सुना जाता तो आज टिहरी बांध पर उत्तराखंड राज्य के लोगों का अधिकार होता परंतु ऐसा नहीं हुआ है।

उन्होंने कहा कि हम आगामी होने वाले चुनाव में किसी भी राष्ट्रीय दल से समझौता नहीं करेंगे।

उन्होंने कहा कि उनके दल का 13 में से 9 जिलो में गठन हो चुका है, अब वह वार्ड स्तर पर संगठन का विचार कर रहे हैं जिसके लिए उन्हें सभी राजनीतिक दलों से भी विभिन्न लोगों का सहयोग प्राप्त हो रहा है और वह उन दलों को छोड़कर उनके दल में शामिल हो रहे हैं।

जिन्होंने यह महसूस किया है कि उसे उत्तराखंड में एक मजबूत विपक्ष की आवश्यकता है।

पार्टी के गठन के बारे में जानकारी देने के बाद दर्जनों कार्यकर्ता‌ओं को पार्टी मे शामिल किया। जिसमें उपेंद्र सकलानी, महावीर सिंह कुमाई, भरत सिंह राणा, रमेश उनियाल, कप्तान प्रदीप उनियाल, कमल राणा, सरोज रणा कोटी, जसोदा सेमवाल ,कलावती, राखी नौटियाल, सचिन काला, करण सिंह नेगी ,सोहन सिंह राणा, कमला राणा, कैप्टन बलबीर सिंह नेगी ,मनोरमा चमोली, गुलाब सिंह रावत आदि प्रमुख थे।

About The Author