February 2, 2023

24x7breakingpoint

Just another WordPress site

एसटीएफ ने 25000 का इनामी दबोचा, BHEL में नौकरी लगाने के नाम पर ठगे थे लाखों रुपए

STF Uttrakhand arrested 25 thousands awardee accused

एसटीएफ ने 25000 का इनामी दबोचा बीएचएल मैं नौकरी लगाने के नाम पर ठगे थे लाखों रुपए

देहरादून-सरकारी नौकरी लगाने का लालच देकर लाखों रूपये की ठगी कर 05 साल से गायब 25 हजार रूपये के ईनामी अपराधी को एसटीएफ ने चण्डीगढ़ से किया गिरप्तार।

आरोपी अमर सिंह ग्राम कुंजा बहादुरपुर हरिद्वार का पूर्व ग्राम प्रधान था. प्रधान रहते हुए की उसने सरकारी नौकरी लगाने के नाम पर कई लोगों को अपना शिकार बनाया.

वह उनकी नौकरी राजकीय इंटर कॉलेज में क्लर्क के पद पर अथवा बीएचईएल हरिद्वार में लगा सकता है ।

पिछले पांच सालों से अपना नाम पता बदलकर होटल में छिप कर रह रहा था, शातिर ठग।

हरिद्वार में कई लोगों से लाखों रूपये की ठगी करके आरोपी चंपत हुआ था

पिछले 15 दिवस में एसटीएफ टीम ने किये 07 कुख्यात ईनामी अपराधी गिरप्तार

एसटीएफ टीम द्वारा एक ऐसे शातिर ठग को चण्डीगढ़ जाकर गिरप्तार करने में कामयाबी प्राप्त की है जो पिछले 05 सालों से पुलिस को छकाता रहा है।

इसकी गिरप्तारी हेतु प्रारम्भ में 05 हजार रूपये की घोषणा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार द्वारा की गयी थी,

परन्तु यह ठग इतना शातिर था कि पुलिस से बचने के हर हथकण्डे अपनाता रहता था,

जिसके कारण अभी तक पुलिस की गिरप्त में नहीं आ सका था,

जिस कारण से पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हरिद्वार द्वारा इस अभियुक्त की गिरप्तारी हेतु 25 हजार रूपये के इनाम की घोषणा की गयी थी।

इस बार इसकी गिरप्तारी हेतु ठोस कार्ययोजना बनायी गयी और एसटीएफ के बिछाये जाल में फंस गया।

इस व्यक्ति द्वारा नौकरी लगाने का झांसा देकर कई लोगों से लाखों रुपए प्राप्त करके एक दिन अचानक जनपद हरिद्वार से गायब हो गया

जिस पर कोतवाली रूड़की में अमरसिंह के विरुद्ध धोखाधड़ी का मुकदमा वर्ष 2018 में दर्ज किया गया था।

पुलिस अधीक्षक एसटीएफ चंद्र मोहन सिंह द्वारा बताया गया की एस. टी.एफ. की एक टीम कोतवाली रूड़की से वर्ष 2018 से घोखाधड़ी के एक मामले में वाछित शातिर अमर सिंह को पकड़ने के लिये पिछले काफी प्रयास कर रही थी,

परन्तु वह काफी प्रयास के बाद भी अब तक गिरप्तार नहीं हो सका था, क्योंकि वो हर माह में अपना नया ठिकाना बदल लेता था।

एसएसपी आयुष अग्रवाल ने आरोपी अमर सिंह के लगातार ठिकाने बदलने के पैटर्न को पकड़ कर एसटीएफ टीम को एक नयी रणनीति बनाकर गिरप्तार करने में सफलता प्राप्त की.

आरोपी हर महीने राजस्थान के नागौर जिले में स्थित ओशो ध्यान सेंटर में जाया करता था।