April 16, 2024

24x7breakingpoint

Just another WordPress site

Haridwar police recovered missing child after cm interference

मुख्यमंत्री धामी का कड़ा रुख, 1 घंटे में बच्चा बरामद

हरिद्वार से गायब हुए 8 माह के बच्चे को बरामद करने के लिए हरिद्वार पुलिस जी जान से जुटी हुई थी

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने घटना का संज्ञान लेते हुए कड़ा रुख अपनाया तो 1 घंटे में ही बालक बरामद कर लिया गया

खास खबर-उत्तराखंड एसटीएफ भगोड़े गैंगस्टर पर कसी नकेल एक के बाद एक की हो रही धरपकड़

हरिद्वार पुलिस की इस तुरंत कार्यवाही पर डीआइजी गढ़वाल ने पुलिस टीम को ₹30000 का इनाम देने की घोषणा की

आपको बता दें कि 10 दिसंबर को सुबह 9:30 बजे 08 माह का पुत्र शिवांग को चोरी हो गया था.

घटना की सूचना मिलते ही हरिद्वार पुलिस टीम अलग-अलग मोर्चों पर तलाशी अभियान में जुट गई

इसी बीच पुलिस को जानकारी मिली कि दो महिला एक नाबालिक बच्चे के साथ है मौके पर पुलिस ने जाकर महिला और बच्चे को हिरासत में लिया तो उसके बाद सारा मामला ही साफ हो गया

पूछताछ पर दोनों महिलाओं द्वारा बताया गया कि संजय  श्यामपुर कांगड़ी की अपर रोड़ हरिद्वार में कपड़ों की दुकान है जिसके बच्चे न होने के कारण उसने हमें एक बच्चा दिलवाने हेतु कहा था

जिसकी एवज में उसने हमें ढ़ाई लाख रुपयों का लालच दिया था।

यह बात उन्होने अपनी परिचित किरन पुत्र सुरेन्द्र कुमार उम्र 18 वर्ष को बतायी तो उसने बताया कि उसके पड़ोस में रविन्द्र का बच्चा 6-7 महिने का है,

रविन्द्र का घर मेरे घर से सटा हुआ है बच्चे को में आसानी से चोरी कर दे सकती हूं , परन्तु बच्चा तुरन्त पार्टी को देना होगा।

योजना के मुताबिक किरन ने वादी रविन्द्र व उसकी पत्नी राखी को छत पर देख चुपचाप उसके घर में घुसकर बच्चे को उठा लिया बच्चा उस समय सो रहा था।

किरन ने पहले से ही अपनी रिस्तेदार सुषमा पत्नी विरेन्द्र निवासी मौहल्ला कड़च्छ को अपने घर पर बुला रखा था ,

किरन ने उक्त बच्चा सुषमा को ले जाने के लिये दिया सुषमा उक्त बच्चे को लेकर जटवाडा पुल पहुंची

जहां किरन की मां (मुंहबोली)अनिता पत्नी सोमप्रकाश निवासी मौहल्ला कड़च्छ मिली दोनों ने रुबी और आशा को बताया कि काम हो गया है

आप ग्राहक को बुला लिजिए जिसपर रुबी और आशा संजय को लेकर बढेड़ी राजपूतान में

स्थित एक पेट्रोल पम्प के पास मिले जहां बच्चे को संजय को देकर संजय से अनिता व सुषमा ने 50000 हजार कैश लिया बाकि के दो लाख रुपये संजय ने रुबी व आशा को बाद में देने लिये वादा किया ।

इसके बाद संजय बच्चे को लेकर हरिपुर कलां स्थित एक गेस्टहाउस में ले गया परन्तु सोशल मीडिया व

अखबारों पर बच्चा चोरी की खबर वायरल होने पर उसने रुबी व आशा को वहां बुलाकर बच्चा उन्हे वापस कर दिया।

About The Author