February 1, 2023

24x7breakingpoint

Just another WordPress site

उत्तरायणी महोत्सव मैं धमाल मचाने आ रहे हैं लोग गायक अमित सागर

हरिद्वार- मकर संक्रांति उत्तरायणी महोत्सव की अंतिम तैयारी को लेकर एक महत्वपूर्ण बैठक राजकीय ऋषिकुल

आयुर्वेदिक चिकित्सालय के मैदान में पहाड़ी महासभा के अध्यक्ष सुभाष पुरोहित की अध्यक्षता में एवं संचालन महामंत्री इंद्र सिंह रावत ने किया।

खास खबर हरिद्वार में महिला मोर्चा के अध्यक्ष की ताजपोशी भाजपा के लिए कांटो भरी राह

बैठक को संबोधित करते हुए महामंत्री इंद्र सिंह रावत ने 15 जनवरी को होने वाली मकर संक्रांति उत्तरायणी के महोत्सव की तैयारी के बारे में विस्तार से बताया एवं दिनाक 15 जनवरी के कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु समितियां गठित की।

जिसमे कार्यक्रम में आने वाले मुख्य अतिथि एवं अति विशिष्ट अतिथि के लिएअतिथि स्वागत समिति ,मंच संचालन समिति, भोजन व्यवस्था समिति,मीडिया संचालन समिति,पार्किंग संचालन समिति,

Pahadi mahasbha organized uttrayani mahotsav in Haridwar महिला स्वागत समिति, लोक गायक अमित सागर की व्यवस्था की टीम गठित कर दी गयी है अध्यक्ष पहाड़ी महासभा सुभाष पुरोहित ने कहा कि यह समितियों के संचालक अपनी व्यवस्था सुचारू रूप से संभालेंगे और कार्यक्रम को भव्यता देने के लिए सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ साथ अन्य व्यवस्थाएं भी की जा रही हैं

जिसमे सामाजिक, चिकित्सा, पत्रकारिता, शिक्षा, महिला सशक्तिकरण,उधम, न्याय के क्षेत्र में एवं मेधावी छात्र ,छात्राओं का सम्मान करने का निर्णय भी समिति द्वारा लिया गया है।

पहाड़ी महासभा के अध्यक्ष सुभाष पुरोहित ने अपील की सभी ज्यादा से ज्यादा संख्या में पहुच कर कलाकारों का उत्साह वर्धन करे सुप्रशिद्ध लोक गायक अमित सागर की प्रस्तुति एवँ लोक कलाकारों के छोललया नृत्य का आनन्द ले।

15 जनवरी2023 को 10 बजे ऋषिकुल ऑडोटोरियम हरिद्वार पहुँच कार्यक्रम का आनन्द लें।

बैठक में सर्व श्री सतीश जोशी, त्रिलोक चंद भट्ट, दीपक नोटियाल, महावीर नेगी,श्रीमती सरिता पुरोहित, पुष्पा चौहान,एस पी चमोली,डॉ संतोष कुमार चमोला,राकेश नोडियाल,अजय घनशेला,दिनेश लखेड़ा,जसवंत सिंह बिष्ट,राजेश रतूड़ी,रमेश चंद्र पंत,योगेंद्र सिंह नेगी,के एन भट्ट, मनोज पोखरियाल,राजपाल सिंह पंवार, सौरभ कंडवाल,महावीर चौहान,दीपक पांडेय,प्रकाश चंद्र भट्ट,नवीन चंद्र पंत,शिवेंद्र सिंह खयानत,अशोक सिंह रावत,धीरज बिष्ठ, सुभाष पुरोहित, इंद्र सिंह रावत, इत्यादि ने कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए अपना पूर्ण सहयोग देने का निर्णय लिया।