24x7breakingpoint

Just another WordPress site

जिलाधिकारी का वो Dream जो पूरा ना हो सका

हरिद्वार (विकास चौहान)। जब डीएम साहब बनना चाहते थे बैंड मास्टर। जी हाँ यह कोई और नही खुद हरिद्वार के जिलाधिकारी दीपेन्द्र चौधरी का है जो गुरुकुल कांगड़ी यूनिवर्सिटी में ऑल इंडिया लेविल के स्क्वाश प्रतियोगिता के उद्घाटन पर अपने बचपन की यादें ताज़ा कर रहे थे ओर बड़े ही प्रफुल्लित दिखाई दिए।
गुरुकुल कांगड़ी यूनिवर्सिटी में ऑल इंडिया लेविल के स्क्वाश प्रतियोगिता के उद्घाटन शनिवार 14 सितंबर को जिलाधिकारी द्वारा किया गया जोकि 18 सितंबर तक चलेगी। प्रतियोगिता के प्रारंभ पर यूनिवर्सिटी के कुलपति ने बताया कि इस प्रतियोगिता में पूरे भारत से खिलाड़ी प्रतिभाग कर रहे है। उत्तराखंड में स्क्वाश के प्रोत्साहन के लिए यह एक बड़ी पहल है। वही इस अवसर पर मुख्यातिथि के रूप में पधारे जिलाधिकारी दीपेन्द्र चौधरी ने अपने भाषण में बच्चों से बात करते करते अपने बचपन ओर अपने गांव की यादो में खोते हुए कहने लगे कि जब वे छोटे थे तो बाल अवस्था मे जब भी वो गांव में आने वाली बारात देखते तो उन्हें बारात की ड्रेस बहूत अच्छी लगती थी और उनका बैंड मास्टर बनने का मन करता पर भगवान का शुक्र है कि उनका यह पहला सपना पूरा नही हुआ। वही प्रतियोगिता के उद्धघाटन पर खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दी और कहा कि खिलाड़ियों को अपने खेल के लिए स्वास्थ्य और आचरण पर भी ध्यान देना चाहिए।