24x7breakingpoint

Just another WordPress site

इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज होगा हरिद्वार कुंभ

इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी दर्ज होगा हरिद्वार का यह कुंभ, 5 हजार जवानों ने रचा इतिहास

इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी दर्ज होगा हरिद्वार का यह कुंभ, 5 हजार जवानों ने रचा इतिहास

हरिद्वार(अरुण शर्मा)। संक्रमण काल मे भी इतिहास रचता कुम्भ,

हरिद्वार महाकुंभ विपरीत परिस्थिति में भी इतिहास रचने में लगा हुआ है।

बुधवार को मानव श्रंखला से मास्क की आकर्ति बना कर हरिद्वार कुंभ ने रिकॉर्ड बना दिया है।

यह भी पढ़े-हरिद्वार कुंभ में स्नान को आ रही देव डोलियां, सरकार कर करेगी पुष्पवर्षा

पांच हजार से भी अधिक जवानों ने न केवल इतिहास रचा अपितु देश और दुनिया मे कोविड के खिलाफ नए तरीके से संदेश देने का काम किया।

कोविड संक्रमण से बचाव हेतु सन्देश देने के लिए मानव श्रृंखला बनाई गई , जिसे मास्क के आकार में ढाला गया।

देवभूमि के हरिद्वार में गोरी शंकर पार्किंग स्थल में सुगम कुम्भ एवम सुरक्षित कुम्भ का धेय्य को आत्मसात किये

जवानों ने एक कार्यक्रम के दौरान मास्क की आकृति बना कर दो गज दूरी मास्क जरूरी का संदेश दिया,

इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्डयह मास्क आकृति इतिहास में सबसे बड़ी मानव सृजित मास्क आकृति है जिसे *इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड* में

दर्ज करने के लिए इंडिया बुक ऑफ रिकार्ड की ओर से जज वीरेंद्र सिंह एवमं समन्वयक संदीप विश्नोई मौजूद रहे।

मास्क आकृति में कुंभ मेला पुलिस ,SDRF उत्तराखंड पुलिस PAC ATS उत्तराखंड,,

उत्तरप्रदेश pac राजस्थान होमगार्ड, , CRPF ITBP, CISF, BSF, NSG, SSB के *कुल 5077* सम्मलित रहे।

आईजी संजय गुंज्याल ने कहा कि रिकॉर्ड का बनना सर्वोत्तम तथ्य नही है रिकॉर्ड बनते ओर टूटते है

किन्तु वैश्विक कोविड संकट दौर में मास्क का महत्व ओर आवश्यकता के सन्देश को प्रत्येक श्रद्धालु तक ओर आम जनमानस तक पहुंचाना महत्वपूर्ण है।