24x7breakingpoint

Just another WordPress site

Education Secretary ने दिए आदेश,प्रदेशभर में कक्षा 8 तक के छात्र—छात्राओं की परीक्षा नहीं किया जाए प्रोन्नत

देहरादून। कोराना वायरस संक्रमण का विश्वभर में आपदा के रूप में प्रकोप फैल जाने तथा इससे रोकथाम तथा बचाव के देखते हुए जहां उत्तराखण्ड सरकार प्रदेश में सभी शिक्षण संस्थाओं को पूर्व में ही 31 मार्च तक बन्द रखने के आदेश दे चुका है वहीं नये आदेश में प्रदेश के शिक्षा सचिव (Education Secretary ) आर.मीनाक्षी सुन्दरम ने प्रदेश भर में कक्षा 9 एवम् 11 की गृह परीक्षाओं की अनुमति देते हुए कक्षा 8 तक की कक्षाएं पूर्ण रूप से बन्द करते हुए कक्षा 8 तक के छात्र—छात्राओं को पूर्व के मूल्यांकन के आधार पर प्रोन्नत/उत्तीर्ण किए जाने के आदेश दिए है

खास खबर—उत्तराखंड में कोरोना महामारी घोषित, पढ़िए अब सरकार क्या क्या कर सकती है इसमें

साथ ही आदेश में निजी विद्द्यालयो के बारे में मिल रही शिकायत पर सख्त होते हुए कहा ​है कि कतिपय निजी विद्यालयों में आध्यापकों को उपस्थित होने को कहा जा रहा है जोकि उचित नहीं है केवल परीक्षा डयूटी वाले अध्यापक ही स्कूल में उपस्थित होंगे। अन्य अध्यापक स्कूल में उपस्थित नहीं होंगें।
इसके साथ ही शिक्षा सचिव ने बोर्डिंग स्कूल के लिए आदेश दिए है कि बोर्डिंग स्कूल पूर्व की तरह संचालित किए जा सकते है परन्तु छात्रों को सम्पूर्ण रूप से में रखेंगे। बाहरी व्यक्तियों के प्रदेश पर यथासम्भव प्रतिबंधित रखा जाएगा। यदि उनके कर्मचारी बाहर से आते है तो उनको सैनिटायजर से हाथ धोने के उपरान्त ही अन्दर प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। बोर्डिंग स्कूल के द्वारा अपनी छात्र—छात्राओं को विदेश भ्रमण नहीं कराया जाएगा।
आदेश में कहा गया है कि ऐसे स्कूल जो रेजीडेन्टल के साथ साथ डे स्कूल भी संचालित करते है वे अन्य डे स्कूलों की तरह पूर्णत: बन्द रहेंगे।