24x7breakingpoint

Just another WordPress site

दिव्यांग बच्चों को मुख्यधारा में जोड़ने को एक प्रयास

हरिद्वार: समाजसेवी विभाष मिश्रा और उनकी पत्नी द्वारा दिव्यांग बच्चों को मुख्य धारा से जोड़ने के लिए निशुल्क मेडिकल जांच शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में दिल्ली से आये चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉ मंसूर आलम द्वारा दिव्यांग बच्चों की जांच की गई।

खास खबर—राजस्थान अलवर की इस 56 भोग वाली कृष्ण जन्माष्टमी की बात ही कुछ अलग है

डॉ मंसूर आलम के साथ हरिद्वार के फिजियोथेरेपिस्ट सौरभ ठाकुर भी मौजुद रहे। बड़ी संख्या में लोग अपने दिव्यांग बच्चों की जांच करवाने आय। समाजसेविका रश्मि मिश्रा ने बताया कि उनका अपना बच्चा दिव्यांग है और अब वो अब चलने फिरने लगा है उसी से प्रेरित होकर उन्होंने इस शिविर का आयोजन किया ताकि हरिद्वार के लोग भी अपने दिव्यांग बच्चों को ऐसी बीमारी बचा सके। वही समाजसेवी विभाष मिश्रा ने कहा कि आज के समय में ऐसे बच्चों के साथ भेदभाव नहीं करना चाहिए सभी बच्चे भगवान का रूप है इन सभी बच्चों को मुख्यधारा से जोड़ना चाहिए। साथ ही उन्होंने मांग की गई कि सरकार को इन बच्चों के लिए ऐसा कानून बनाना चाहिए ये भी दूसरे बच्चों के साथ पढ़ लिख सकें। उन्होंने माँग भी की क़ि इनके उपचार के लिए सरकार द्वारा स्वास्थ्य के क्षेत्र में बड़ा काम किया जाए।