24x7breakingpoint

Just another WordPress site

बीसीसीआई से मान्यता के बाद उत्तराखंड की प्रतिभाएं आएगी आगे:- तीरथ

हरिद्वार डेस्क न्यूज़। क्रिकेट एसोसिएशन आफ उत्तराखंड को बीसीसीआई से मान्यता मिलने पर जिले के क्रिकेट खिलाड़ियों तथा खेल प्रेमियों मैं उत्साह का माहौल है। सी.ए.यू के अध्यक्ष हीरा सिंह बिष्ट व सचिव पी.सी. वर्मा के हरिद्वार पहुंचने पर क्रिकेट एसोसिएशन आफ हरिद्वार के पदाधिकारियों व सदस्यों ने फूल माला पहनाकर भव्य स्वागत किया।

खास खबर—जम्मू कश्मीर में पाक की गोलीबारी में उत्तराखंड का लाल हुआ शहीद
जब से बीसीसीआई द्वारा उत्तराखंड में क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड को मान्यता मिली है तभी से उत्तराखंड के क्रिकेट प्रेमियों में खुशी की लहर है। सभी का मानना है कि बीसीसीआई के इस कदम से उत्तराखंड की छिपी प्रतिभाएं सामने आयेगी, ओर अब धोनी और पन्थ जैसे खिलाड़ी दूसरे प्रदेशों में पलायन नही करेंगे।
हरिद्वार के बायपास मार्ग स्थित होटल में सी.ए.यू के अध्यक्ष हीरा सिंह बिष्ट व सचिव पी.सी. वर्मा के हरिद्वार पहुचे  जहां  उन्होंने स्वागत समारोह में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए  कहा कि  बीसीसीआई से उत्तराखंड को मान्यता मिलने पर राज्य में क्रिकेट को बढ़ावा मिलेगा। स्थानीय स्तर पर होने वाले मैच के अतिरिक्त रणजी ट्रॉफी, विजय हजारे ट्रॉफी, सी.के. नायडू ट्रॉफी, वीनू मांकड, विजय मर्चेंट आदि जैसे बड़े मैचों का आयोजन यहां हो सकेगा। बड़े स्तर पर होने वाले मैचों के आयोजन में स्थानीय क्रिकेट प्रतिभाओं को अपना हुनर दिखाने का अवसर मिलेगा और अंतरराष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी सामने आएंगे। सचिव पीसी वर्मा ने कहा कि मान्यता मिलने के बाद उत्तराखंड में 7 मैदानों में विभिन्न प्रतियोगिताओं के मैच आयोजित किए जाएंगे, जिसमें सभी को साथ लेकर बिना किसी भेदभाव के स्थानीय क्रिकेट को विकसित किया जाएगा। स्कूली क्रिकेट को पर्वतीय क्षेत्रों व मैदानी क्षेत्रों में बढ़ावा दिया जाएगा ।उन्होंने कहा कि अब राज्य में नए क्रिकेट ग्राउंड,पिच क्यूरेटर, कोच, अंपायर एवं स्कोरर आदि की सुविधाएं खिलाड़ियों को मिल सकेंगी।क्रिकेट एसोसिएशन आप हरिद्वार के अध्यक्ष नीरज कुमार व सचिव इंद्रमोहन बड़थ्वाल ने बताया कि 19 वर्षों के कड़े संघर्ष व इंतजार के बाद उत्तराखंड को मान्यता मिली है, अब होनहार खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा दिखाने के पर्याप्त अवसर मिलेंगे।मनीष पांडे,उन्मुक्त चंद, पवन सुयाल ऋषभ पंत,पवन नेगी,राजेश बिष्ट आदि खिलाड़ी इसी उत्तराखंड राज्य से हैं परंतु उत्तराखंड को मान्यता ना होने के कारण दूसरे प्रदेशों से खेलने को विवश थे। उत्तराखंड में प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है मान्यता मिलने के बाद अनेक प्रतिभाएं सामने आएंगी। उत्तराखंड के समस्त खिलाडियों ने बीसीसीआई सीओए अध्यक्ष विनोद राय, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, खेल मंत्री अरविंद पांडे, सी ए यू अध्यक्ष हीरा सिंह बिष्ट, सचिव पी.सी.वर्मा का मान्यता मिलने पर आभार जताया। स्वागत करने वालों में नीरज कुमार, इंद्रमोहन बड़थ्वाल,संजीव गुप्ता, विकास गोयल, परविंदर सिंह, प्रदीप वर्मा, अनिल खुराना, राजवीर सिंह सुखबीर सिंह, कुलदीप सिंह अटवाल, चंद्रमोहन बड़थ्वाल,कमल चमोली,शलभ गोयल, कमल बहुखंडी, संजय बिष्ट, मयंक शर्मा, ललित सचदेवा किशोर, अरोड़ा देवेंद्र शर्मा, अजय कुमार, रचित कुमार, निशीथ कुमार, प्रवीण गिरी, पंकज शर्मा, मनोज कुमार, राहुल कुमार आदि शामिल रहे।