24x7breakingpoint

Just another WordPress site

लोकसभा चुनाव-नैनीताल,टिहरी और हरिद्वार सीट पर भाजपा में मचा घमासान

लोकसभा चुनाव-नैनीताल,टिहरी और हरिद्वार सीट पर भाजपा में मचा घमासान

लोकसभा चुनाव-नैनीताल,टिहरी और हरिद्वार सीट पर भाजपा में मचा घमासान,नया गणित-नया दावेदार

देहरादून(अरुण शर्मा)। लोकसभा चुनाव में अभी भले ही कुछ समय बचा हो लेकिन सीटों पर नेताओं की दावेदारी का दौर शुरु हो गया हैं। यूं कहे कि लोकसभा सीटों पर दावेदारी को लेकर गहमागहमी तेज हो गयी हैं। एक तरफ जंहा भगत दा की नैनीताल सीट पर यशपाल आर्य खम ठोकते नजर आ रहे है तो दूसरी तरफ टिहरी सीट पर मुन्ना सिंह चौहान ने अपना दावेदारी का झंडा मजबूत करने की पूरी तैयारी कर ली हैं। ऐसे में चुनाव से पहले भाजपा के अंदर आपसी खींचतान तेज होती दिख रही हैंं। जिसने मौसम के गिरते पारे में गरमाहट पैदा करने का काम कर दिया हैं।

खास खबर— खानपुर में अवैध शराब के खिलाफ पुलिस ने की कार्यवाही

जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं, वैसे ही भाजपा के अंदर दावेदारों की होड़ की एक लंबी चौड़ी फेहरिस्त नजर आने लगी है। भगत सिंह कोश्यारी के चुनाव न लड़ने से नये प्रत्याशी के बनी संभावना पर इस बार नैनीताल सीट चुनाव से पहले हॉट सीट बनती जा रही है।

संबधित खबर—खंडूरी के बाद भगत सिंह कोश्यारी की नैनीताल सीट पर इन नेताओं की नजर,पेश की दावेदारी

इस सीट पर जहां कांग्रेस से पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की संभावित दावेदारी के बाद बीजेपी के भीतर भी इसी सीट के लिए नहीं अपितु पांचों सीटों पर धमासान मचा हुआ हैं। नैनीताल सीट की बात की जाय तो यहां वर्तमान सांसद भगत सिंह कोशयारी की न के कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य, पुष्कर सिंह धामी के साथ ही खुद प्रेदश अध्यक्ष अजय भट्ट भी सीट के लिए दावेदारी सामने आ रही है।

संबधित खबर—बीसी खंडूरी का राजनिति से सन्यास,पौड़ी लोकसभा सीट से इन्होने की दावेदारी

दूसरी तरफ भाजपा संगठन के प्रवक्ता और विधायक मुन्ना सिंह चौहान ने यशपाल आर्य की दावेदारी पर हामी भरते हुए टिहरी सीट पर अपना खम्म ठोकने से पीछे नहीं रहे। हालांकि वे मीडिया के समक्ष विधायक मुन्ना सिंह चौहान केवल हाईकमान के उपर बात टालते हुए नजर आये। हरिद्वार सीट पर शोर्य डोभाल के नववर्ष के बधाई संदेश हंरिद्वारवासियों के मोबाइल पर क्या बजे की यहां भी राजनितिक पारा एक दम चढता हुआ नजर आया। हालांकि शोर्य डोभाल को पौड़ी सीट पर खंडूरी जी के बाद प्रबल दावेदारों की सूची में माना जा रहा था लेकिन नये साल पर महज एक संदेश ने नया ही गणित बनता हुआ दिखायी दिया।