24x7breakingpoint

Just another WordPress site

आपदा पिड़ितों के जख्मो पर डबल इंजन सरकार ने लगाया मरहम,मुआवजे का ऐलान

आपदा पिड़ितों के जख्मो पर डबल इंजन सरकार ने लगाया मरहम,मुआवजे का ऐलान

आपदा पिड़ितों के जख्मो पर डबल इंजन सरकार ने लगाया मरहम,मुआवजे का ऐलान

देहरादून(अरुण शर्मा)। आपदा में अपनों को खोने वालों के जख्मों पर डबल इंजन की सरकार ने मरहम लगाने का प्रयास किया हैं। मंगलवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने आपदा में मारे गये परिजनो को चार-चार लाख रुपये मुवावजे की घोषणा की। यही नहीं सीएम ने बेघर हुए लोगों के लिए ग्राम समाज की भूमि का चयन करने के निर्देश जिलाधिकारी को दिये। मंगलवार को मुख्यमंत्री ने उत्तरकाशी के आपदा ग्रस्त इलाकों का स्थलीय और हवाई दौरा किया।

खास खबर—पूर्व कैबिनेट मंत्री को विरोध करना पड़ा भारी,पुलिस ने लिया हिरासत में

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मंगलवार को उत्तरकाशी जनपद के आराकोट पहुंचकर गत रविवार को आई प्राकृतिक आपदा अतिवृष्टि के कारण आराकोट, माकुडी, टिकोची, किराणु, चीवां, बलावट, दुचाणु, डगोली, बरनाली, गोकुल, मौंडा गांव का स्थलीय एवं हेलीकाॅप्टर से निरीक्षण किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रत्येक मृत के परिजनों को 4-4 लाख की धनराशि दी जाएगी। घायलों का ईलाज निःशुल्क सरकार के द्वारा किया जा रहा हैं। बेघर हुए लोगों के लिए ग्राम समाज की भूमि का चयन करने के निर्देश जिलाधिकारी को दिए गए हैं।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र आराकोट में दैवीय आपदा से पीड़ित लोगों से मिले और ढांढस बंधाया तथा हर संभव मदद का भरोसा दिया। उन्होंने आराकोट इंटर कालेज में बनाए गए बेस कैंम्प व दैवीय आपदा से हुए नुकसान का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि आपदा में मारे गए परिजनों को दैवीय आपदा के मानकों के अनुसार शीघ्र मुआवजा राशि दी जाएगी।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने प्रभावित काश्तकारों की सेब,भूमि व भवनों के क्षति के आंकलन की रिर्पोट तैयार करने के निर्देश जिलाधिकारी को दिए। ताकि शीघ्र प्रभावित लोगों को मुआवजा राशि वितरण कराई जा सके। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों की पशुहानि का मुआवजा भी आपदा मानकों के अनुरूप शीघ्र प्रभावित लोगों को दिया जाएगा।

उन्होंने भरोसा दिया कि इस दुख की घड़ी में सरकार पूर्ण रूप से प्रभावित ग्रामीणों के साथ खड़ी हैं। उन्होंने कहा कि प्रभावित सभी गांवों में राशन,पानी, कपड़े, कंबल व आवश्यक दवाईयां आदि पर्याप्त मात्रा में हेली से पंहुचाया गया है तथा जिला प्रशासन लगातार कार्य कर रहा हैं।