24x7breakingpoint

Just another WordPress site

Drug मजा नहीं सजा है , युवा पीढ़ी अपनी ऊर्जा सकारात्मक कार्यो में खर्च करें:— डीजी लॉ एंड आर्डर

हरिद्वार (विकास चौहान) | नशा(Drug) समाज के लिए बहुत बड़ी चुनौती है इसकी जड़ को खत्म करना जरूरी यह कहना है उत्तराखण्ड के लॉ एण्ड आर्डर डीजी अशोक कुमार का। जोकि नशे (Drug) की रोकथाम के लिए हरिद्वार पुलिस विभाग द्वारा एक गोष्ठी में भाग ले रहें थे। जिसमें शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक , डीजी लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार समेत जनपद के कई स्कूल कॉलेजों और कई समाजसेवी संस्थाओं से जुड़े लोगो ने शिरकत की। हरिद्वार एसएसपी सेंथिल अवूदई कृष्णराज एस ने मंत्री और डीजी अशोक कुमार को बुके देकर कार्यक्रम की शुरुआत की,गोष्ठी में आज की युवा पीढ़ी को नशे (Drug) की गिरफ्त से बाहर लाने और नशे के अवैध कारोबार पर लगाम लगाने पर विस्तृत चर्चा की गई।

शुक्रवार को बीएचईएल के कन्वेशन हॉल में नशे के खिलाफ आयोजित गोष्ठी में उत्तराखण्ड के शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि नशे को लेकर सरकार द्वारा इंटर कॉलेज और डिग्री कॉलेज आदि कई जगहों पर बड़ा जागरूकता अभियान चलाया गया, नशे का कारोबार करने वाले अपराधियों का स्थान जेल है इसी को लेकर इस तरह के कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे है। मदन कौशिक ने ये भी कहा कि नशे का अवैध कारोबार करने वालो को राजनितिक संरक्षण मिलना दुर्भाग्यपूर्ण है ,इसे किसी भी प्रकार का संरक्षण समाज के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है।
वही डीजी लॉ एंड आर्डर अशोक कुमार ने कहा कि नशा पुरे समाज के लिए चुनौती है , उनका प्रयास है कि नशे को जड़ से खत्म करने के लिए खपत और सप्लाई को कम करना होगा। खपत कम करने लिए लिए उनकी पुलिस द्वारा जागरूकता अभियान चलाये जा रहे है और सप्लाई के लिए पुलिस की द्वारा कार्यवाही की जा रही है। वही डीजी अशोक कुमार ने युवा पीढ़ी से अपील भी की है कि नशा मजा नहीं सजा है , इससे बचकर अपनी ऊर्जा को सकारात्मक कामों में खर्च करें। उत्तराखंड पुलिस के डीजी लॉ एंड ऑर्डर ने नशे को सबसे बड़ी चुनौती स्वीकार किया है अब देखना होगा कि राज्य की मित्र पुलिस कब तक इस चुनौती को ख़त्म करेगी।