24x7breakingpoint

Just another WordPress site

आचार्य बालकृष्ण मामले में सीबीआई से जांच की मांग

हरिद्वार। पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण की जब से विषाक्त पेडा खाने के बाद तबियत खराब हुई है तभी से ही इस पूरे घटनाक्रम के जांच की मांग हो रही है हालांकि चार दिन बीतने के बाद भी अभी तक पतंजलि योगपीठ की ओर से कोई एफआरआई दर्ज नही कराई गई है।

खास खबर—गंगा तट पर अरुण जेटली को कुछ इस तरह अतिंम विदाई दी उनके बेटे ने

लेकिन इस घटना के बाद कई संगठनों के इस घटनाक्रम की जांच की मांग की है इसी क्रम में अब हिन्दू रक्षा सेना द्वारा भी आचार्य को विष दिए जाने की घटना की जांच सीबीआई से करने की मांग की है। हिन्दू रक्षा सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महंत प्रबोधनंद गिरी नए पतंजलि योगपीठ प्रबंधन पर सवाल उठाते हुए कहा कि इतना बड़ा प्रकरण होने के बाद भी अभी तक कोई एफ आई आर दर्ज नहीं कराई गई और ना ही आरोपी की गिरफ्तारी को कोई ठोस कदम उठाए गए हैं क्या पतंजलि प्रबंधन किसी बड़ी दुर्घटना अथवा अनहोनी का इंतजार कर रहा है या पतंजलि से जुड़ा कोई अपने व्यक्ति ही आचार्य बालकृष्ण की हत्या की साजिश कर रहा है जिसे बचाने के लिए अभी तक बाबा रामदेव और पतंजलि प्रबंधन कोई ठोस कदम नहीं उठा रहा है वहीं इस मौके पर सामाजिक सेना के राष्ट्रीय प्रमुख महंत विनोद महाराज ने कहा कि संत महापुरुषों के लिए सबसे सुरक्षित स्थान आश्रम व अखाड़े हैं यदि संत वही सुरक्षित नहीं है तो उन्हें तत्काल उस स्थान को छोड़ देना चाहिए वेरी चाहे वह पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण ही क्यों ना हो। उन्होंने कहा कि जिस तरह बाबा रामदेव के गुरु शंकर देव महाराज के साथ कोई अनहोनी का आज तक कोई सुराग नहीं लगा उसी तरह आचार्य बालकृष्ण की हत्या की साजिश की जा रही है