24x7breakingpoint

Just another WordPress site

समाज में Moral Value का पतन परिवार और समाज दोनों लिए हानिकार

हरिद्वार। समाज के लिए नैतिक मूल्य (moral value)कितने अहम है यह जानने और इस पर चर्चा के लिए आज एक परिचर्चा हरिद्वार प्रेस क्लब में हुई जिसमें समाज के विभिन्न क्षेत्रों से जूड़े लोगों ने हिस्सा लिया।

खास खबर—दिव्यांग बच्चों को मुख्यधारा में जोड़ने को एक प्रयास

द विनिंग ए सोसायटी के तत्वावधान में सोसायटी के वार्षिकोत्सव पर एक कार्यक्रम का आयोजन प्रेस क्लब हरिद्वार में किया गया। इस अवसर पर समाज के विभिन्न वर्गों से आए प्रबुद्ध व्यक्तियों ने परिवार एवं समाज में नैतिक मूल्यों (moral value)के पतन विषय पर आयोजित परिचर्चा में अपने अपने विचार व्यक्त किए

परिवार एवं नैतिक मूल्यों के पतन विषय पर आयोजित परिचर्चा में हरिद्वार की मेयर श्रीमती अनीता शर्मा ने कहा कि उन्हें कार्यक्रम में प्रतिभाग कर बेहद प्रसन्नता हो रही है जो विषय संस्था की ओर से परिचर्चा हेतु रखा गया है वह आज के समाज की प्रमुख समस्या है उन्होंने कहा कि इस समस्या का समाधान समाज के हर व्यक्ति को मिलजुलकर करना है। समूह परिचर्चा को संबोधित करते हुए प्रेस क्लब हरिद्वार के अध्यक्ष एवं मुख्य वक्ता श्री राजेश शर्मा ने कहा कि हम हमेशा अपनी जिम्मेदारी से बचने का प्रयास करते हैं । आम आदमी के दिमाग में यह अवधारणा बनी है कि समाज को सुधारने की जिम्मेदारी सिर्फ सरकार की है जबकि यह जिम्मेदारी इस समाज में रह रहे हर व्यक्ति की है। उन्होंने कहा कि पुरानी पीढ़ी एवं नई पीढ़ी में गैप होता है जो अब बदल रहा है । उन्होंने कहा कि हमें बच्चों की बात माननी चाहिए पर अनावश्यक जिद को पूरा नहीं करना चाहिए। श्री शर्मा ने समाज में घटित विभिन्न संजीदा उदाहरणों के माध्यम से विषय पर विस्तृत प्रकाश डाला ।अपने संबोधन में अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के जिला समन्वयक दीपक दीक्षित ने कहा कि यह विषय बेहद संजीदा है उन्होंने कहा कि उनका मानना है नैतिक मूल्यों में गिरावट अवश्य आई है परंतु नैतिक मूल्यों का पतन हो गया है यह कहना सही नहीं होगा । उन्होंने कहा कि पुरानी पीढ़ी को नई पीढ़ी के समक्ष एक ऐसा कार्य करना होगा जिससे परंपराओं का संवहन ठीक से होता है तथा कुछ आदर्श स्थापित हो सके ।इस अवसर पर अपने संबोधन में द विनिंग एज सोसायटी के संस्थापक कुंवर प्रशांत जन देव ने कहा कि उनका मानना है कि सामाजिक मूल्यों का पतन नहीं हो रहा है बल्कि मूल्य परिवर्तित हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि सीखना एक व्यापक प्रक्रिया है हम एक बच्चे से भी सीख सकते हैं उन्होंने परिवार को समाज की नींव बताते हुए कहा कि यदि बुनियाद ही सही नहीं होगी तो निश्चित रूप से परेशानी बढ़ेगी उन्होंने सभी का आह्वान किया कि वह जो मन में आए वह करें तथा उसको पूर्ण निष्ठा के साथ करें।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय से उपस्थित हुई डॉक्टर मेहा बोरा ने नैतिक मूल्यों को पर्यावरण के साथ जोड़ा उन्होंने कहा कि यह है एक बड़ी समस्या है जिसका समाधान सभी को मिलजुलकर करना है उन्होंने कहा कि परिवार समाज की महत्वपूर्ण इकाई है यदि परिवार ही संस्कारी नहीं होगा तो समाज कैसे आगे बढ़ेगा। इस अवसर पर संस्था की चेयर पर्सन श्रीमती विभूति राजलक्ष्मी जन देव ने कहा कि वह इस बात से प्रसन्न है कि आज संस्था अपने 21 वर्ष पूर्ण कर चुकी है तथा इस अवधि में शिक्षा सुरक्षा स्वास्थ्य एवं पर्यावरण के क्षेत्र में संस्था द्वारा उल्लेखनीय कार्य किया गया है। श्रीमती विभूति ने इस अवसर पर समाज के विभिन्न वर्गों से आए बुद्धिजीवियों का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए संस्था के जन सरोकार कार्यों से अवगत कराया उन्होंने कहा कि हम सबको मिलकर आगे बढ़ना है तथा एक स्वस्थ् संस्कारी एवं प्रगतिशील समाज की संकल्पना को साकार करना है इस अवसर पर संस्था के स्वयंसेवक के वर्ष पर्यंत आयोजित होने वाले कार्यकलापों को श्रीमती मंजू मेहता द्वारा पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से प्रदर्शित किया गया तथा प्रतिभागियों को डॉ. पंकज मदान आदि के द्वारा प्रमाण पत्र भी वितरित किए गए । कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्वलन एवं अतिथियों के स्वागत आदि से हुआ इस कार्यक्रम की खास बात यह रही कि संस्था द्वारा गोद लिए गए सरकारी प्राथमिक विद्यालय फेरूपुर के बच्चों ने भी कार्यक्रम प्रस्तुत किया इस अवसर अन्वेषा, अनुभूति, प्रबुद्ध, नव्या, आशी आदि की प्रस्तुति ने सबका मन मोह लिया। संस्था की ओर से दीप्ति, डिंपल, सलोनी, अमित सैनी, पंकज सपरा, तरित श्रीकुंज, पूजा वालिया, तरुणा चोपड़ा सहित विभिन्न लोग उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन डॉ. शिवा अग्रवाल एवं किटी सपरा ने किया।